गोयल ने जारी किया आईआरसीटीसी-एसबीआई कार्ड, रेलयात्रियों को मिलेगा 10 प्रतिशत वैल्यू बैक

टॉप -न्यूज़ न्यूज़ राष्ट्रीय

published by saurabh

इसे भी देंखेंhttps://www.youtube.com/watch?v=aWEF1gA70OY&feature=emb_title

नयी दिल्ली(वार्ता): भारतीय रेलवे खानपान एवं पर्यटन निगम (आईआरसीटीसी) और भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) के कार्ड प्रभाग ने रूपे प्लेटफॉर्म पर मंगलवार काे अपना एक नया संपर्क रहित क्रेडिट कार्ड राष्ट्र को समर्पित किया जिसमें यात्रियों को ट्रेनों की उच्च श्रेणियों में आरक्षण कराने पर 10 प्रतिशत तक वैल्यू बैक सहित विभिन्न आकर्षक उपहार मुहैया कराये गये हैं।
रेल, वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री पीयूष गोयल ने मंगलवार को यहां वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से आयोजित एक कार्यक्रम में यह कार्ड जारी किया। इस मौके पर एसबीआई के अध्यक्ष रजनीश कुमार और आईआरसीटीसी के प्रबंध निदेशक एम पी मल्ल उपस्थित थे। श्री गोयल ने इस मौके पर कहा कि रेलवे को मेक इन इंडिया एवं डिजीटल इंडिया के तहत हर प्रकार से आत्मनिर्भर बनाने के लिए हम सब दृढ़ प्रतिज्ञ हैं जिसकी कल्पना प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने की है। रूपे प्लेटफॉर्म पर इस कार्ड को डिजायन करना और जारी करना उन्हीं प्रयासों में से एक है। इस कार्ड को नियर फील्ड कम्युनिकेशन्स (एनएफसी) तकनीक से लैस है जिससे इस कार्ड को पीओएस मशीन में इस कार्ड को सामने से स्कैन करके भुगतान किया जा सकता है, स्वैप करने की जरूरत नहीं होगी। इस कार्ड में यात्रियों के लिए अनेक आकर्षक सुविधाएं दीं गयीं हैं।

यह भी पढ़ें-https://sindhutimes.in/major-event-28-july/

कार्ड धारकों को एसी-1, एसी-2, एसी-3, एग्ज़ीक्यूटिव चेयर कार, एसी चेयरकार के टिकट खरीदने पर दस प्रतिशत तक का वैल्यू बैक मिलेगा। इस कार्ड की मदद से ऑनलाइन भुगतान करने पर एक प्रतिशत का ट्रांजेक्शन शुल्क नहीं लगेगा और पेट्रोल या डीज़ल खरीदने पर एक प्रतिशत फ्यूल सरचार्ज भी नहीं लगेगा। यात्रियों को वर्ष में चार बार (एक तिमाही में एक बार) बड़े स्टेशनों पर प्रीमियम लाउंज का निशुल्क इस्तेमाल करने की छूट मिलेगी। कार्ड के आरंभ होने पर धारक को एक न्यूनतम राशि व्यय करने पर 350 बोनस अंक मिलेंगे। धारक इन अंकों को आईआरसीटीसी की वेबसाइट से आरक्षण कराने में इस्तेमाल कर सकते हैं। इनके अलावा ऑनलाइन शॉपिंग पोर्टलों पर एसबीआई कार्ड पर चलने वाले विभिन्न योजनाओं का भी लाभ मिलेगा।

कृषि से संबन्धित समाचारों के लिए लागइन करें-http://ratnashikhatimes.com/