चीन ने पाकिस्तान, नेपाल, अफगानिस्तान के साथ की अहम बैकठ

अंतर्राष्ट्रीय

Published by  Ujagar 

बीजिंग, (वार्ता)। भारत और विभिन्न पड़ोसी देशों से सीमा विवाद को लेकर वैश्विक स्तर पर अलग-थलग पड़ रहे चीन ने पाकिस्तान, नेपाल और अफगानिस्तान से उसकी बेल्ट एवं रोड परियोजना (बीआरआई) समेत चीन-पाकिस्तान आर्थिक गलियारे (सीपीईसी) का समर्थन करने की अपील की है।
चीन के विदेश मंत्री वांग यी ने मंगलवार को इस मुद्दे पर तीनों देशों के नेताओं के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए बैठक कर महत्वाकांक्षी बीआरआई के अलावा कई अन्य अहम मुद्दों पर चर्चा की। श्री वांग ने बैठक में चीन-पाकिस्तान आर्थिक गलियारे (सीपीईसी) समेत कुल चार प्रस्ताव पेश किये। चीन सीपीईसी को अफगानिस्तान तक बढ़ाना चाहता है। उसकी योजना नेपाल के साथ एक आर्थिक गलियारे का निर्माण करने की भी है।
यह भी पढ़ें – https://sindhutimes.in/chinese-researcher-arrested-for-visa-related-fraud-in-america/
चारों देशों ने कोरोना वायरस (कोविड-19) महामारी के खिलाफ लड़ाई में आपसी सहयोग बढ़ाने और साथ ही क्षेत्रीय संपर्क को बढ़ाकर आर्थिक संबंधों को मजबूत करने पर भी सहमति व्यक्त की।
इस बैठक में चीन के विदेश मंत्री के अलावा अफगानिस्तान के कार्यवाहक विदेश मंत्री मोहम्मद हनीफ अत्मार, नेपाल के विदेश मंत्री प्रदीप कुमार गयावली और पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने हिस्सा लिया।
यह भी पढ़ें – https://sindhutimes.in/2667-new-cases-of-korena-infection-in-iran/
चीन की ओर से यह बैठक ऐसे समय में की गयी है जब भारत के साथ सीमा विवाद को लेकर काफी तनाव है। पाकिस्तान के साथ भारत के रिश्ते तो पहले से ही खराब चल रहे हैं लेकिन हाल के दिनों में नेपाल के साथ भी उसके रिश्तों में खटास आई है।