जौनपुर में शहीद जिलाजीत पंचतत्व में विलीन

उत्तर प्रदेश टॉप -न्यूज़ न्यूज़ प्रदेश

published by saurabh

इसे भी देंखें https://www.youtube.com/watch?v=ta5scYWKE4o&t=263s

जौनपुर (ST News): जम्मू कश्मीर के पुलवामा में आतंकियों से लोहा लेते हुए शहीद हुए जौनपुर निवासी जिलाजीत यादव को शुक्रवार की सुबह अंतिम विदाई दी गई। शहीद के छह माह के बेटे जीवांश ने भी पिता को पुष्पांजलि दी। नन्हें हाथों से पिता को नमन करते देख लोगों की आंखें छलक पड़ीं। माहौल गमगीन हो गया। गोमती किनारे रामघाट पर चाचा रामइकबाल ने मुखाग्नि दी। श्री जिलाजीत यादव बुधवार की सुबह पुलवामा में आतंकियों से हुई मुठभेड़ में शहीद हो गए थे। गुरुवार की रात उनका पार्थिव शरीर विमान से वाराणसी एयरपोर्ट पहुंचा। जहां अधिकारियों और अन्य लोगों ने उन्हें श्रद्धांजलि दी। मौसम की खराबी के कारण पार्थिव शरीर शाम में जौनपुर नहीं भेजा जा सका।

सुबह होते ही पार्थिव शरीर जौनपुर रवाना हुआ तो सैकड़ों की संख्या में युवाओं की टोली भी अपने जिले के लाल को लेने पहुंच गई। गगनभेदी नारों के साथ जवान का पार्थिव शरीर सिरकोनी विकास खण्ड के इजरी धौरहरा गांव पहुंचते ही कोहराम मच गया। शहीद को एक झलक देखने की लालसा में सभी सुरक्षा व्यवस्था ध्वस्त हो गई। भीड़ बेकाबू हो गई। सैकड़ों की संख्या भी महिलाएं भी शहीद के घर पहुंच गईं। शहीद की पत्नी पूनम और मां उर्मिला यादव पार्थिव शरीर देखते ही अचेत हो गई। किसी तरह पानी का छींटा मारकर होश में लाया जाता लेकिन दोबारा बेहोश जातीं। पति की मौत के बाद से भूखी पूनम को परिवार की महिलाओं ने किसी तरह संभालने की कोशिश की। घर पर करीब ढाई घंटे तक लोगों ने अपने लाल को श्रद्धांजलि और पुष्पांजलि दी। इसके बाद शवयात्रा गोमती के किनारे रामघाट के लिए रवाना हुई। वहां पहले से मौजूद अधिकारियों और जवानों ने गार्ड आफ आनर दिया। इसके बाद अंतिम संस्कार की प्रक्रिया शुरू हुई।

यह भी पढ़ें – https://sindhutimes.in/many-rivers-are-above-the-danger-mark/

चाचा रामइकबाल यादव ने मुखाग्नि दी। श्हीद जिलाजीत यादव को श्रद्धांजलि देने और पुष्प चक्र चढ़ाने की होड़ मची रही। सभी दलों पार्टियों के लोग, आला अधिकारी और बुद्धजीवियों ने पुष्पचक्र अर्पित कर शहीद को नमन किया। राज्य सरकार की तरफ से प्रदेश के युवा कल्याण खेलकूद एवं पंचायती राज राज्यमंत्री( स्वतंत्र प्रभार ) एवं जौनपुर के प्रभारी उपेंद्र तिवारी व प्रदेश के आवास एवं शहरी नियोजन राज्यमंत्री गिरीश यादव ने प्रदेश सरकार की तरफ से शहीद के पार्थिव शरीर पर पुष्प चक्र अर्पित किया, इसके साथ ही मछली शहर के सांसद बीपी सरोज, आम आदमी पार्टी के राज्यसभा सांसद संजय सिंह, विधायकगण डॉ हरेन्द्र प्रसाद सिंह, दिनेश चौधरी, जगदीश सोनकर के अलावा पूर्व सांसद तूफानी सरोज, पूर्व मंत्री जगदीश नारायण राय, पूर्व मंत्री डॉ केपी यादव, जिलाध्यक्ष भाजपा जौनपुर पुष्पराज सिंह, जिलाध्यक्ष समाजवादी पार्टी लालबहादुर यादव, पप्पू रघुवंशी, आमोद सिंह रिंकू, नंदलाल यादव, पांचू सरोज, अशोक यादव, सुशील दूबे, मनोज कुमार यादव, शिवसंत यादव आदि लोगों ने शहीद को पुष्पचक्र अर्पित कर नमन किया। अधिकारियों में मुख्य रूप से जिलाधिकारी दिनेश कुमार सिंह, पुलिस अधीक्षक अशोक कुमार, एसडीएम सदर नितेश कुमार,एस पी सिटी संजय कुमार, सीओ केराकत अजय श्रीवास्तव ने पुष्पचक्र अर्पित किया। जौनपुर के प्रभारी मंत्री उपेंद्र तिवारी शहीद सहित सभी मंत्री सांसद विधायक व पूर्व विधायक शहीद के शव यात्रा में शामिल होकर राम घाट तक गए , शव जलाए जाने के बाद ही सभी लोग अपने अपने घरो को गए । सिरकोनी ब्लॉक के इजरी (धौरहरा) गांव निवासी पुलवामा में शहीद हुए जिलाजीत यादव के घर गुरुवार की सुबह जिलाधिकारी दिनेश कुमार सिंह पहुंचे। जिलाधिकारी ने शहीद के गांव पहुंचकर एसडीएम को निर्देश दिया कि राजस्व कर्मचारियों से तत्काल जमीन चिन्हित करायें। जिसमें शहीद जिलाजीत यादव की मूर्ति लगेगी तथा एक पार्क बनेगा। इसके अलावा परिवार के लोगों के बताये जाने वाले सड़क को शहीद के नाम पर रखा जाएगा। उन्होंने कहा कि सरकार द्वारा 50 लाख रुपये की राशि मिलेगी। 50 लाख रुपये में 35 लाख रुपये पत्नी पूनम के नाम तथा 15 लाख रुपये शहीद की माँ उर्मिला यादव के नाम के पैसे का प्रमाण पत्र जौनपुर के प्रभारी मंत्री उपेंद्र तिवारी ने शहीद की पत्नी और मां को प्रदान किया उन्होंने कहा कि इसके अलावा सरकार द्वारा एक सरकारी नौकरी दी जाएगी।

कृषि से संबन्धित समाचारों के लिए लागइन करें–http://ratnashikhatimes.com/