बाढ़ राहत में शिथिलता बरती तो नपेंगे अधिकारी: रंगाराव

उत्तर प्रदेश न्यूज़ प्रदेश

published by saurabh

इसे भी देंखें https://www.youtube.com/watch?v=ta5scYWKE4o&t=263s

गोंडा, (ST News): उत्तर प्रदेश में गोंडा के तरबगंज तहसील क्षेत्र के ऐली परसौली गांव के पास घाघरा नदी के तेज बहाव से कटे भिखारीपुर सकरौर तटबंध के मरम्मत कार्य और राहत व बचाव का शुक्रवार को निरीक्षण करने बंधे पर पहुंचे देवीपाटन मंडल के आयुक्त एस वी एस रंगाराव नें अधिकारियों को कार्यों मे तेजी लाने के निर्देश देते हुए कहा कि यदि मरम्मत या राहत कार्य में हीलाहवाली बरती गयी तो जिम्मेदार अधिकारियों पर कठोर कार्रवाई की जायेगी । उन्होनें बंधे पर चल रहे मरम्मत कार्य को पारदर्शी और गुणवतापूर्ण करने की सख्त हिदायत दी । स्थलीय निरीक्षण के दौरान अधिशासी अभियन्ता बाढ़ खण्ड बी0एन0 शुक्ला ने आयुक्त को बताया कि तटबन्ध के कटान स्थल के दोनों तरफ मरम्मत कार्य कराया जा रहा है। बोल्डर आदि डालकर तटबन्ध की सुरक्षा व कटान की तीव्रता को रोकने की दिशा में कार्य कराया जा रहा है। तटबन्ध पर 24 घन्टे शिफ्टवार ड्यूटी लगाकर पेट्रोलिंग का कार्य चल रहा है। उन्होनें बताया कि तटवर्ती गांवों की सुरक्षा के लिये बनाए गए वैकल्पिक रिंग बांध पर सतत निगरानी रखी जा रही है उन्होनें बताया कि रिंगबांध निर्माण से सम्बन्धित मुआवजा सम्बन्धित लोगों को दे दिया गया है। आयुक्त ने रिंग बांध का भी निरीक्षण किया तथा मरम्मत कार्य में लगाए गए श्रमिकों के सम्बन्ध में पूछताछ कर श्रमिक गैर इलाका 24 व शेष गांव के ही श्रमिकों के बारे में जानकारी ली । आयुक्त ने प्रवासी मजदूरों तथा अकुशल श्रमिकों को भी आवश्यकतानुसार कार्य पर लगाने के लिए निर्देश दिए। ग्रामवासियों से पूछताछ के दौरान ग्रामीणों ने राहत कार्य पर संतोष जताया।

यह भी पढ़ें- https://sindhutimes.in/religion-leaders-should-unite-to-campaign-against-conversion-laxminarayan/

बाढ़ के कारण गांव में एक मवेशी की मृत्यु हुई थी जिसका पोस्टमार्टम कराकर सम्बन्धित को मुुआवजा दे दिया गया है। उप जिलाधिकारी (तरबगंज) राजेश कुमार ने आयुक्त को बताया कि गांव में ओआरएएस घोल के पैकेट व क्लोरीन की गोलियां वितरित करा दी गई हैं तथा टीकाकरण व राशन वितरण का कार्य भी कराया गया है। नावें लगाकर दोनों तरफ के बाढ़ प्रभावित लोगों तक राशन पहुंचाया गया है तथा 225 नए राशन कार्ड भी बनाए गए है। उन्होंने बताया कि आगामी 20 अगस्त से 24 अगस्त तक जिम्मेदार अधिकारी की मौजूदगी में शासन के निर्देशानुसार राशन वितरित कराया जायेगा।उन्होनें बताया कि कटान के कारण बाढ़ प्रभावित मजरा विशनपुरवा के आठ परिवारों के 74 लोग प्रभावित हुए हैं जिन्हें हर सम्भव मदद मुहैया कराई जा रही है। इसी प्रकार ग्राम केवटाही में 40 परिवार प्रभावित हुए हैं जिन्हें राशन, दवा, चारा तिरपाल सहित अन्य जरूरी वस्तुएं उपलब्ध कराई गई हैं। आयुक्त ने एक्सईएन को निर्देश दिए कि कटान क्षेत्र में हो रहे मरम्मत कार्यों की ड्रोन से निगरानी कराए जाने हेतु प्रस्ताव तैयार कराया जाय। उन्होंने यह भी निर्देश दिए कि सोेलर एनर्जी से संचालित सीसीटीवी कैमरों को व्यवस्थित कर दिया जाय ताकि धूप न होने की समस्या के कारण संचालन की दिक्कत को दूर किया जा सके और कैमरे एक्टिवेट रहकर कार्य कर सकें।एक्सईएन ने बताया कि बंधे की सुरक्षा के दृष्टिगत बोल्डर आदि की पर्याप्त उपलब्धता सुनिश्चित कराई जा रही है ताकि विषम परिस्थितयों में उनका त्वरित उपयोग हो सके।

कृषि से संबन्धित समाचारों के लिए लागइन करें–http://ratnashikhatimes.com/